पाक में फिर हुआ मंदिर पर हमला, जन्माष्टमी के दिन मुसलमानों की भीड़ ने तोड़ी कृष्ण की प्रतिमा

पाकिस्तान में सोमवार को जन्माष्टमी के दिन सिंध प्रांत के संघार जिले के खिर्पो इलाके में मंदिर में तोड़फोड़ की गई है। ये मंदिर भगवान कृष्ण का है और जन्माष्टमी के दिन इस मंदिर को काफी सुंदर तरीके से सजाया गया था। यहां के स्थानीय लोग ये पर्व मनाने के लिए मंदिर में जमा भी हुए थे। हालांकि इसी दौरान इस मंदिर पर हमला कर दिया गया और इसमें रखी मूर्तियों को तोड़ दिया गया।

खबर के मुताबिक वहां मौजूद हिंदुओं के साथ मारपीट और बदसलूकी भी की गई। घटना के बाद इलाके में तनाव का माहौल है। सिंध में हुई घटना की जानकारी पाकिस्तान के ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट राहत आस्टिन ने सोशल मीडिया पर दी है। उन्होंने लिखा है मंदिर पर हमला इसलिए किया गया क्योंकि यहां हिंदू समुदाय धूमधाम से भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाने जुटे थे।

इस घटना से जुड़ी कई तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि हमलावरों ने मंदिर में काफी तोड़फोड़ की है। प्रभू नंदलाल की प्रतिमा के दोनों हाथों को तोड़ा गया है। एक श्रद्धालू ने अपने कंधे से गमछा उतारकर, उस पर श्रीकृष्ण की प्रतिमा को रखा है।

पुलिस से ली थी मंजूरी

shree krishna

जन्माष्टमी पर्व मनाने के लिए यहां के लोगों ने पुलिस से मंजूरी ली थी। उसके बाद ही कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया था। वहीं घटना के बाद पुलिस भी यहां पहुंची थी। लेकिन पुलिस ने सिर्फ भीड़ को वहां से हटाया। इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

इसी महीने तोड़ा गया था मंदिर

इस महीने की शुरुआत में भी एक ऐसी ही घटना यहां हुई थी। इस देश के पंजाब प्रांत के रहीम यार खान जिले के भोंग इलाके में एक हिंदू मंदिर को तोड़ दिया गया था। ये इलाका लाहौर से कुछ ही किलोमीटर दूर है। तब भी भीड़ इस मंदिर में घुस गई थी और वहां पर रखी मूर्तियों को हानि पहुंचाई थी।

वहीं भारत सरकार की ओर से विरोध जताने पर पाकिस्तान सरकार ने हमलावरों के खिलाफ सख्त कदम उठाने की बात कही थी। साथ ही पंजाब प्रांत की सरकार ने कहा था कि वो इस मंदिर को फिर से बनवाएगी और घटना के लिए जिम्मेदार लोगों को कानून के हिसाब से सजा दिलवाई जाएगी। हालांकि, अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है और मंदिर को सही करने का काम भी शुरू नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *